Tuesday, June 18, 2019
HINDI NEWS PORTAL
Home > Samachar > 23 मई , भाजपा गई ?

23 मई , भाजपा गई ?

इस समय एग्जिट पोल की भरमार है और चुनाव नतीजों से पहले देश की जनता इनको झेलने पर मजबूर है । रवीश कुमार कहते हैं कि 3 महीने से न्यू ज़ चैनल के पत्रकार गाव गाव घूम कर मोदी लहर ढूढ रहे थे। अब एक्ज़िट पो देखते हैं तो लगता है कि मोदी लहर मिल गई है । सरकार बनाने के लिए 543 सीटो मे 272 सीट की ज़रूरत होती है एक्ज़िट पोल के नतीजे यह दर्शा रहे हैं कि भाजपा इस से अधिक सीट ला रही है लेकिन इन नतीजों को विपक्षी नेताओ ने नकार दिया है । विपक्षी नेताओं ने भाजपा के खिलाफ संयुक्त मोर्चा बनाने की कोशिश शुरू कर दी है । चुनाव में मोदी के खिलाफ नाराज़गी साफ़ नज़र आ रही थी नोटबन्दी , जी एस टी और महंगाई भ्रष्टाचार से जूझ रही जनता इस से मुक्ति चाह रही थी । पूरी तरह लग रहा था कि विपक्ष की सरकार बनेगी । वैसे भी 60 करोड़ लोगों ने वोट दिया है , छोटे छोटे सैम्पल लेकर 20 , 22 हज़ार लोगों से सवाल करके यह साबित नही किया जा सकता कि किसकी सरकार बनेगी ।




पहले भी एक्ज़िट पोल गलत साबित हुए हैं । 2009 में कांग्रेस सरकार बनाती नज़र नही आ रही थी लेकिन चुनाव नतीजो के बाद कांग्रेस की सरकार बनी । इन एग्जिट पोल में शामिल दो एजेन्सिया ऐसी है जो बी जे पी के लिए ग्राउंड वर्क कर रही हैं , एक एजेन्सी ऐसी है जिसने भाजपा को 300 से ज़्यादा सीट दिया है , उस के सर्वे में सट्टा बाज़ार का पैसा लगा है समाचार चैनलो को नसीहत दी गई है कि विपक्ष के आंकड़े कम कर के दिखाए । कुछ चैनल विपक्ष की सरकार बनते दिखाने की हिम्मत कर रहे हैं , पत्रकार प्रसून बाजपेइ ने अपने पूरे चुनाव के दौरान किए गए सर्वे में दिखाया है कि भाजपा को काफ़ी सीटो का नुकसान हो रहा है , उन के सर्वे के अनुसार युपी ने भाजपा 22 सीटो पर सिमट जाएगी बिहार में 12 सीट मध्य प्रदेश में 10 सीट और कइ और राज्यो मे नुकसान के साथ 132 से 140 सीट गवा रही है । फ़िलहाल 23 मई तक दिल थाम कर इंतज़ार करें ।

            ( शाहीन अहमद सिद्दीकी )