Home > vichardhara

सोनी सोरी को दी गई यतानाओं की चर्चा क्यूं नहीं ।

इस देश का समाजिक ताना बाना किस तरह का बुना गया है इसकी एक बानगी देखनी हो तो आप 17 अप्रैल 2019 के बाद भारत के इस खाये पिए अघाये सवर्ण और " भारत माता की जय ब्राडं" देशभक्ति का नमूना देखिये । ये तब्क़ा अब मानवाधिकार की दुहाई दे

Read More

राष्ट्रवाद की सैद्धांतिक अवधारणा ।

राष्ट्रवाद एक ऐसी अवधारणा है जिस पर वाद-प्रतिवाद तो काफी हो चुके हैं परंतु अभी तक संवाद स्थापित नहीं हो पाया है । इसकी जटिलता का प्रमुख कारण इसकी बहुआयामी प्रवृत्ति है , राष्ट्रवाद को विश्व भर के कई विद्वानों द्वारा परिभाषित किया गया है, लेकिन उनके वैचारिक अवधारणा

Read More

भाजपा ने पिछले पांच वर्षों में केवल संप्रदायिकता को बढ़ाया ।

लोकसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है और हर चुनावी योद्धा और रणनीतिकार दिन-रात सभी मोर्चे की किलेबंदी और विरोधी के गढ़ में सेंधमारी करने से ले कर मतदाताओं को रिझाने में जुटा है। सभी राजनितिक दल अपने अपने जीत के दावे कर रहे हैं। लेकिन सम्प्रदायिक राजनीती के लिए

Read More

बेगूसराय में वामदल कितना मजबूत ?

हम सब यह जानते हैं कि आगामी लोकसभा चुनाव 2019 का बिगुल फूंका जा चुका है, जिसके लिए हर दल ने अलग-अलग सीटों पर अपनी दाबेदरी पेश करना शुरू कर दिया है! इसी क्रम में बेगूसराय से लोकसभा प्रत्याशी के लिए CPI ने अपनी दाबेदभारतीहै । या कुमार के नाम

Read More

चुनावी बजट कितना विफल ।

भाजपा के नेतृत्व वाली एन डी ए सरकार ने अन्त्रिम बजट 2019 पेश कर दिया है कहने को तो यह अन्त्रिम बजट है लेकिन इसकी पूरी कोशिश की गई है कि यह पुर्ण कालिक बजट जैसी हो । भाजपा इसे जनता के हित में और फ़ायदा पहुंचाने वाला बता रही

Read More

विश्व पुस्तक मेला में क्या रहा खास ।

पुस्तकें पढ़ने लिखने वालो का सच्चा साथी होती हैं , ये सृजन शीलता को विकसित करती हैं , इनमें व्यक्तित्व को निखारने की अद्भुत क्षमता होती है । इस संबंध में विश्व पुस्तक मेले को देखा जाए तो यह दिल्ली वालो के जीवन में अद्वितीय योगदान करती हैं और अतुल्य

Read More

जमीअतुल उलेमा ए हिन्द के सौ साल ।

100 साल पहले जब जमीअतुल उलेमा ए हिन्द का गठन किया गया तो देश की स्वतंत्रता इसका लक्ष्य था दूसरा बड़ा लक्ष्य खिलाफ़त को क़ायम करने के लिए आंदोलन करना था । अब जब इसका शताब्दी वर्ष पूरा हुआ हैं तो यह मुस्लिम समुदाय के अधिकार के लिए आवाज़ बन

Read More

नसीरुदीन शाह के दर्द का यथार्थ ।

जब बुलंद शहर में गाय के नाम पर हिंसक भीड़ ने इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या कर दी तो पूरा देश सन्नाटे में आ गया और चिन्ता की लहर दौड़ गयी । भय शोक और क्रोध की भावना को सब ने महसूस किया , इसी संदर्भ में नसीरुदीन शाह

Read More

महान स्वतंत्रता सेनानी , शिक्षाविद् , मौलाना मज़हरुल हक़ ।

आज भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी,शिक्षाविद्, ख़िलाफ़त तहरीक, और असहयोग आंदोलन के सिपाही, मौलाना मज़हरुल हक़ की यौम ए पैदाईश है । मौलाना बिहार के पटना ज़िला के बहपुरा गांव में पैदा हुए ,आपने इंग्लैंड से बैरिस्टरी की पढ़ाई की,और उसी दौरान आपने वहां ' अंजुमन इस्लामिया इस्लामिया नामक

Read More