Home > Samachar > प्रो. नाज़ का़दरी नेक और रहम दिल इंसान थे : ज़फ़र इमाम

प्रो. नाज़ का़दरी नेक और रहम दिल इंसान थे : ज़फ़र इमाम

सज्जाद पब्लिक उर्दू लाइब्रेरी, बेतिया में साहित्यिक संस्था ” अदबी संगम ” की ओर से प्रो. नाज़ का़दरी के लिए एक प्रोग्राम आयोजित किया गया । मालूम हो कि प्रो. नाज़ का़दरी का 13 नवंबर को निधन हो गया था । वो एक शिक्षक, शायर आलोचक और कहानीकार थे । इस प्रोग्राम का संचालन के साथ आरंभ करते हुए नसीम अहमद नसीम ने उनकी शख़्सियत का भरपूर परिचय पेश किया । इस अवसर पर ज़फ़र इमाम ने कहा कि वो नेक और रहम दिल इंसान थे, मुज़फ़्फ़रपुर में उनका मकान सभी के लिए खुला रहता था, वो रिसर्च स्कॉलरों की बड़ी मदद किया करते थे और यही कारण है कि आज उनके केई शागिर्द उर्दू दुनिया में अपना नाम रौशन कर रहे हैं ।

इस अवसर पर प्रो. शमशुल हक़, डॉ. जावेद क़मर, डॉ. ज़ाकिर हुसैन , ज़हीर अंसारी और अबुल ख़ैर नशतर ने प्रो. नाज़ का़दरी की शख़्सियत के अनेकों पहलूओं पर विस्तार से चर्चा की और उनकी अहमियत को उजागर किया। इकराम हसन, ज़ुबैर अहमद, साहब शैख़, मोहम्मद निसार और अन्य लोगों ने इस प्रोग्राम को कामयाब करने में अपनी ओर से भरपूर योगदान दिया ।